विधि व्याख्यान माला : वरिष्ठ अधिवक्ता के.टी.एस. तुलसी ने बताई कानूनी बारीकियां

0
40

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ के महाधिवक्ता कार्यालय बिलासपुर में 27 नवम्बर को महाधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा के संयोजन से विधि व्याख्यान माला के दितीय चरण का आयोजन किया गया।

भैयाजी ये भी देखे : बड़ी खबर : “महात्मा फुले समता पुरस्कार” से सीएम भूपेश को…

जिसमें उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता एवं राज्यसभा सांसद के.टी.एस.तुलसी द्वारा मार्डनाइजेशन ऑफ क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम इन इंडिया विषय पर विस्तृत उदबोधन दिया गया। उनके साथ आये हुए उनके एसोसिएट्स द्वारा प्रेजेंटेशन देेते हुए इस विषय पर विस्तार से कानूनी बारीकियां बताई गई।

कार्यशाला में सर्वप्रथम महाधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा द्वारा कानूनी बारीकियों के बारे में उद्बोधन दिया गया। उन्होंने इससे पहले उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता एवं राज्यसभा सांसद के.टी.एस.तुलसी का स्वागत किया। तत्पश्चात अतिरिक्त महाधिवक्ता अमृतो दास द्वारा स्वागत भाषण दिया गया। मंच संचालन में उप महाधिवक्ता हमीदा सिद्धीकी ने भी भूमिका निभाईं।

सहायक प्राध्यापक विधि विभाग गुरू घासीदास केंद्रीय विश्वविघालय बिलासपुर डॉ. अजय सिंह द्वारा भी उपरोक्त विषय पर सारगर्भित जानकारी प्रदान की गई। व्याख्यान माला में अतिरिक्त महाधिवक्ता विवेकरंजन तिवारी द्वारा मुख्य अतिथि एवं सभी आमंत्रितों का आभार प्रदर्शन किया गया।

इस अवसर पर अध्यक्ष छत्तीसगढ़ पर्यटन बोर्ड अटल श्रीवास्तव, विधायक बिलासपुर शैलेष पांडे, अध्यक्ष छत्तीसगढ़ राज्य केंद्रीय सहकारी बैंक मर्यादित बैजनाथ चंद्राकर, अध्यक्ष जिला केंद्रीय सहकारी बैंक प्रमोद नायक और विजय केशरवानी, विजय पांडेय, अनिल टाह, राजेंद्र शुक्ला, संदीप दुबे, आदि गणमान्य जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही।

भैयाजी ये भी देखे : आयकर छापा : रियल एस्टेट डेवलपर्स के 40 ठिकानों में दबिश,…

महाधिवक्ता कार्यालय के समस्त शासकीय अधिवक्तागण, कर्मचारीगण के अलावा उच्च न्यायालय एव जिला न्यायालय के कई अधिवक्तागण उपस्थित रहे। उल्लेखनीय है कि महाधिवक्ता सतीश चंद्र वर्मा द्वारा पदभार ग्रहण करने के पश्चात महाधिवक्ता कार्यालय के शासकीय एवं पैनल अधिवक्तागण के ज्ञानवर्धन हेतु प्रारंभ किये गये प्रयासों की कड़ी के अंतर्गत यह दूसरी बार ख्यातिप्राप्त विधिविशेषज्ञों को आमंत्रित किया गया है।