बड़ी ख़बर : बाल संप्रेक्षण गृह से 9 लड़के फ़रार, खिड़की की रोड तोड़ कर भागे

0
32

महासमुंद। बाल संप्रेक्षण गृह से 9 बच्चें फरार हो गए। इस घटना की जानकारी तब सामने आई जब सुबह रूटीन चेकिंग के दौरान बच्चे अपने बिस्तर पर नहीं मिले।

भैयाजी ये भी देखे : Video : बृजमोहन का पुनिया से सवाल, सूबे में अस्थिरता का…

मिली जानकारी अनुसार ये अपचारी बालक बुधवार गुरूवार दरम्यानी रात को फरार हुए है। आज सुबह 05ः30 बजे शयन कक्ष का अवलोकन करने पर 09 बच्चे संस्था में नहीं पाये गये। फरार हुए सभी बालकों की उम्र 15 से 17 वर्ष है।

इस घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्टर डोमन सिंह और पुलिस अधीक्षक दिव्यांग पटेल सुबह बाल संप्रेक्षण गृह पहुंचकर पूरी जानकारी ली। कलेक्टर ने लापरवाही बरतने पर कर्मचारियों पर तत्काल कार्रवाई के निर्देश दिए। साथ ही एसडीएम महासमुन्द को जांच करने के निर्देश दिए है।

पुलिस अधीक्षक पटेल ने वहां ड्यूटी पर तैनात होमगार्ड भोई को निलंबित करने के निर्देश दिए। मिली जानकारी अनुसार ये 9 नाबालिग अपचारी बालक महासमुंद ज़िला सहित पड़ोसी ज़िला बलौदाबाज़ार और एक बालक हमीरपुर (उत्तरप्रदेश) का है। जो अलग-अलग मामलों के चलते संप्रेक्षण गृह में थे। बताया गया है यहाँ रात में ड्यूटी में नगर सैनिक भोई एवं केयर टेकर पिताम्बर ध्रुव व जैनदास टण्डन मौजूद थे।

फरार बच्चों की तलाश जारी

ज़िला कार्यक्रम अधिकारी महिला एव बाल विकास समीर पांडेय ने बताया कि बच्चे खिड़की का रॉड तोड़कर फरार हुए हैं। उन पर ज्यादा दबाव तो नहीं डाला जा सकता, उन्हें सुधार के लिए रखा जाता है। बच्चों की खोजबीन पुलिस द्वारा की जा रही है।

भैयाजी ये भी देखे : दुर्गा विसर्जन और दशहरा में पुलिस की तगड़ी व्यवस्था, ड्रोन और…

जिला बाल संरक्षण अधिकारी ने बताया कि संप्रेक्षण गृह के 9 अपचारी बालक फरार हुए हैं। इसकी सूचना पुलिस और बच्चों के परिजनों को दी गई है। परिजनों को जानकारी मिलने पर तत्काल सूचित करने निर्देशित किया गया है। बच्चों की तलाश जारी है।